खुले विचारों की महिलाओं के बारे में पुरुषों की ये बडी गलतफहमी होती है!

चाहे काम की जगह हो या स्कूल या कॉलेज, हम हर जगह महिलाओं को पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करते देखते हैं। चूंकि हर क्षेत्र में महिलाएं हैं, इसलिए वे किसी काम के लिए पुरुषों के संपर्क में आती हैं। कई पुरुष उन महिलाओं को सकारात्मक दृष्टि से देखते हैं जिनके साथ वे काम करते हैं, जबकि अन्य उन्हें नीची नज़र से देखते हैं।

आज हम आपको बताने जा रहे है कि पुरुषों में महिलाओं को लेकर एक बड़ी गलत धारणा होती है। महिलाएं निजी क्षेत्र और सरकारी क्षेत्र दोनों में पुरुषों के साथ काम कर रही हैं। कामकाजी महिलाओं ने कहा कि उनमें कोई संकीर्णता नहीं है। वे सबके साथ खुले विचारों का व्यवहार करते हैं। सभी से प्यार से बात करना।

इस समय मेरे साथ काम करने वाले पुरुष सोचते हैं कि वह मेरे साथ अच्छा व्यवहार कर रही है, मुझसे प्यार से बात कर रही है, इसलिए शायद मैं उसे पसंद करता हूं। कई पुरुष गलत समझते हैं कि उसे मुझसे प्यार हो गया है। ऐसा सिर्फ कामकाजी पुरुषों के साथ ही नहीं बल्कि कई कॉलेज के बच्चों के साथ भी होता है। ऐसा कई बच्चों के साथ होता है जो अपना गांव छोड़कर शहर के एक कॉलेज में नए दाखिल हुए हैं।

शहर में रहने वाली बच्चियां बेफिक्र हैं। किसी भी बच्चे से खुलकर बात करें। बच्चे कैंटीन में चाय-कॉफी पीने जाते हैं। लड़के लड़कियों के व्यवहार को ऐसे ही समझते हैं। अगर कोई लड़की किसी लड़के से प्यार से बात कर रही है या उसके साथ कॉफी पीने के लिए कैंटीन जा रही है, तो इसका मतलब यह नहीं है कि वह उससे प्यार करती है, यहीं पर कई लड़कों को गलत समझा जाता है।

जब कोई लड़की उनसे थोड़े प्यार से बात करने लगती है तो वे तुरंत प्यार को समझ जाते हैं और उसे प्रपोज कर देते हैं। उनके मन में इस गलतफहमी के कारण लड़की उससे बात करना बंद कर देती है और दूर से ही उसे देखने लगती है। इसलिए प्यार और ईमानदारी से बात करने वाली सभी लड़कियों को प्यार नहीं होता।

कार्यस्थल पर काम करने वाली महिलाएं अपने साथ रहने वाले पुरुषों से खुलकर बात करती हैं, क्योंकि यह उनका स्वभाव है, लेकिन कई पुरुष प्यार के इस स्वभाव को समझते हैं और उनके करीब आने की कोशिश करते हैं। बहुत बार महिलाएं पुरुषों के इरादों को गलत समझती हैं और यहीं गलत हो जाती हैं। समय बीतने के साथ-साथ महिलाएं इन बातों को समझने लगती हैं और तब तक पुरुष इन दोनों के बीच के प्यार को समझने लगते हैं। इसलिए पुरुषों को उपरोक्त को समझे बिना अपने सहकर्मियों के साथ अच्छा व्यवहार करना चाहिए।

Related Articles

Back to top button