बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश और लगी आग की लपटें, कैसे हुआ हादसा, आगे पढ़ें

तमिलनाडु में सीडीएस बिपिन रावत के आर्मी चॉपर के हेलीकॉप्टर दुर्घटना में कम से कम चार लोगों की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गए। हेलीकॉप्टर में सेना के वरिष्ठ अधिकारी और रावत और उनकी पत्नी सवार थे। हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गए और भीषण आग लग गई। दूर-दूर से लोग मदद के लिए दौड़ पड़े। आगे पढ़ें कैसे हुआ यह भयानक हादसा

दुर्घटना का क्या हुआ? – सीडीएस बिपिन रावत अपनी पत्नी के साथ वेलिंगटन के आर्म्ड फोर्सेज कॉलेज में एक कार्यक्रम में गए थे। रावत यहीं पर व्याख्यान देते थे। वह कार्यक्रम पूरा कर कुन्नूर लौट रहे थे। घटना दोपहर 12:40 बजे नीलगिरि रेंज में हुई।

तमिलनाडु में पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश हो रही है। इसलिए माहौल खराब है। इसे हादसे का कारण बताया जा रहा है। सेना ने अभी इस घटना पर कोई टिप्पणी नहीं की है। हेलीकॉप्टर में कुल 14 लोग सवार थे। इनमें रावत, रावत की पत्नी, एक रक्षा सहायक, एक सुरक्षा कमांडो और एक आईएफ पायलट शामिल हैं।

पेड़ों में भी लगी आग – हादसा कुन्नूर के घने जंगल में हुआ। हादसा इतना भीषण था कि आग की लपटें दूर से ही दिखाई दे रही थीं। स्थानीय लोग, पुलिस, सेना के जवान और वायुसेना के जवान मौके पर पहुंचे। वहां की तस्वीर भयानक थी। कई में आग लगी हुई थी। शवों। हेलीकॉप्टर इतनी तेजी से दुर्घटनाग्रस्त हुआ कि खड़े पेड़ भी कट गए।

हरे पेड़ों में आग लग गई। मौके पर बचाव और तलाशी अभियान शुरू कर दिया गया है। 80 फीसदी जली हालत में दो शव मिले हैं। जंगल में दुर्घटना क्षेत्र में कुछ और शव मिलने की बात कही जा रही है। अन्य शवों को निकालने के प्रयास जारी हैं। उनकी भी पहचान की जा रही है।

पूछताछ के आदेश – पूर्व रक्षा राज्य मंत्री सुभाष भामरे के मुताबिक सीडीएस बिपिन रावत को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उनका इलाज चल रहा है। रावत के साथ उनकी पत्नी मधुरिका रावत भी थीं, जो सेना की एक वरिष्ठ अधिकारी हैं। हालांकि, इनमें से कई की तलाश युद्ध के मैदान में की जा रही है। वायुसेना ने कहा कि घटना की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

Related Articles

Back to top button