उधार पैसे लेकर कंपनी की शुरुआत की थी; आज भारत के 10 सबसे अमीर लोगों में से एक हैं

कोरोनाच्या महामारीने संपूर्ण जगाला संकटात आणले होते. संपूर्ण जग काही काळासाठी पूर्णतः थांबून गेलं होतं. असं असताना देखील अर्थचक्र मात्र थांबलं नाही. कोरोनाच्या महामारीतही कित्येक लोकांनी कमालीचे पैसे कमावले. यामध्ये भारतीय उद्योजकांचा देखील समावेश आहे.

सन फार्मास्युटिकल्स इंडस्ट्रीजचे संस्थापक अध्यक्ष दिलीप संघवी हे त्यातीलच एक नाव आहे. सनफार्मा या जगातील आघाडीच्या औषध कंपन्यांपैकी एक मजबूत बाजार भांडवल असलेली कंपनी आहे. कोरोनाकाळात या कंपनीने आपला व्यवसाय मोठ्या प्रमाणात वाढवला होता. त्यामुळे दिलीप सांगवी यांच्या संपत्तीत देखील लक्षणीय वाढ झाली.

फोर्ब्स ने हाल ही में भारत के सबसे अमीर लोगों की लिस्ट जारी की है। सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में टॉप टेन नामों में सन फार्मा के दिलीप सांघवी हैं। फोर्ब्स के मुताबिक सांघवी की कुल संपत्ति 11 अरब है।

दिलीप सांघवी एक दवा वितरक के बेटे हैं। उन्होंने अपने पिता से लगभग 200 ऋण लेकर फार्मा क्षेत्र में प्रवेश किया। उन्होंने 1982 में गुजरात के वापी में 10,000 रुपये से सन फार्मा कंपनी शुरू की। शुरुआती दिनों में, कंपनी ने बहुत अधिक दवाएं बनाए बिना अच्छी गुणवत्ता वाली दवाओं पर ध्यान केंद्रित किया।

तब से, कंपनी ने विश्व स्तर पर विस्तार किया है। आज, सन फार्मा संयुक्त राज्य अमेरिका में भी अपनी पकड़ मजबूत कर रही है। कोरोना महामारी के चलते पिछले कुछ दिनों से शेयर बाजार में गिरावट है।

इसके बावजूद दिलीप सांघवी की सन फार्मा ने लोगों का अच्छा खासा पैसा कमाके दिया है. आज भी सन फार्मा के शेयरों ने लंबी छलांग लगाई है और ये बेहद तेजीसे आगे जा रहे हैं।

Related Articles

Back to top button