DOOMS DAY PLANE एक ऐसा प्लेन जो दुनिया खतम होने पर भी उडता रहेगा

DOOMS DAY PLANE ये एक टॉप सीक्रेट प्लेन है. जिसमे चोरी हो गयी है,

लेकिन ये टॉप सीक्रेट प्लेन क्यों बनाया गया

कई धर्मो में ये कहा गया है, की एक दिन दुनिया ख़तम हो जायेगी। लेकिन ये दुनिया खतम कैसे होगी।

आजकल एक डर लगा रहता है की कहीं परमाणु युद्ध न छिड जाये। इसके जरिये दुनिया खतम हो सकती है.

dooms day plane

2018 में World economic forum ने एक सर्वे किया था. और इस सर्वे में एक हजार वर्ल्ड के लीडर और बिजनेसमन ने हिस्सा लिया था. और इसमें इन लोग ने माना था, अगर इस दुनिया कयामत आएगी तो सिर्फ और सिर्फ परमाणु हथियार से आएगी। और परमाणु हथियार के जरिये दुनिया बरबाद होगी, तो फिर पूरी दुनिया में परमाणु युद्ध छिड जाये तो आप जमीन से ऊपर हवा रहकर अपनी जान बचा सकते है और अपने दुश्मनो के उपर प्लेन में रहते हुए हमला कर सकते है. और ये सब कुछ उसी प्लेन में मौजूद होगा।

Dooms day plane की खासियत

और इस प्लेन की खासियत ये है की ये परमाणु बम को भी झेल सकता है. और कहीं से भी उडान भर सकता है. और ये प्लेन कई दिनों तक हवा में उड सकता है. और इस प्लेन में कोई खिडकी नहीं है. और इस प्लेन को हवामें ही रेफ्यूल कर सकते है, यह एक ऐसा प्लेन है जो आपको हवा रहकर जमींन से संपर्क में रखेगा और आपको तमाम हमलो से भी बचाकर भी रखेगा । और इस प्लेन का नाम है DOOMS DAY PLANE

और इस तरह के प्लेन सिर्फ अमेरिका और रूस के पास है.

अमेरिका के पास ऐसे 8 प्लेन है और रूस के पास ऐसे 4 प्लेन है.

dooms day plane

अमेरिका में इसे पेंटागन में आर्मी के सुरक्षा में है और इसे उडाने के जिम्मेदारी अमेरिकन आर्मी की है. और इस एक प्लेन में 112 लोग बैठ सकते है.

और रशिया में एक जगह है तगणरोग ( Taganrog ) जंहा रूसके एयरफोर्स का बेस है उनके सुरक्षा में ये प्लेन है.

और इस प्लेन में 67 डिशेष और एंटीना लगे हुए है. क्योंकि किसी भी सुरत में इसका कम्युनिकेशन सिस्टम बंद न हो. जरूरत पडने पर ये एंटीना प्लेन के पीछे कुछ किलोमीटर तक फैल सकता है. और इसके जरिये समंदर में पनडुब्बी को भी एक्टिव कर सकते और उससे हमला भी कर सकते है.

और ये प्लेन रूस में मई 2010 में victory period में लोगो को दिखाया गया था. वैसे ये प्लेन किसीको देखणे को नहीं मिलता, और इसे बहोत सीक्रेट रखा जाता है.

सबसे पहले रूस ने 1985 में इस dooms day plane का ट्रायल किया था, और अब 35 साल हो गए है और रशिया इस प्लेन को नए तरीके से बनाना चाहता है, और इसके उपर काम भी चल रहा है. और यह काम 2025 तक पूरा हो जायेगा।

प्लेन की चोरी कैसे हुई

और ये प्लेन हाई सिक्योरिटी के अंदर खड़े हुये है और 4 दिसंबर 2020 को इसी प्लेन में चोरी हो जाती है. और उस प्लेन के अंदर से कुछ पार्ट्स गायब थे. और जब ये बात पता चली तो हरतरफ हडकंप मच गया, एक तो रुसी एयरफोर्स का हाई सिक्योर इलाका जो पूरी तरह से एकदम प्रतिबंधित है. सिक्योरिटी के जबरदस्त इंतजाम है. और एक ऐसा प्लेन जिसको आपने कयामत के दिनके लिए संभलकर रखा है. उस प्लेन के अंदर कोई चोर घुसता है. और पार्ट्स चुराकर चला जाता है.

बादमे जब प्लेन का इंस्पेक्शन हुआ तो पता चला की प्लेन के अंदर से कुल रेडियो उपकरण के 44 पार्टस गायब है. और ये सारे इस प्लेन के इम्पोर्टेन्ट पार्टस है. और इनमेसे कही पार्टस सोने और प्लैटिनम से बने हुए थे.

और उस प्लेन कुछ फिंगरप्रिंटस और कुछ जूतों के निशान भी मिले। और जाँच आगे बढी, लेकिन इतने दिन बित चुके है, की कौन चोरी करके चला गया पता ही नहीं है. cctv कैमरा का रुख मुडा हुआ था उसमे भी दिखाई नहीं दे रहा था, और चोर तक कोई पहुंच नहीं पाया,

dooms day plane

बाकायदा इसके लिए एक रुसमे कमिटी बनायी गयी है, और रूस के मिनिस्ट्री ने स्टेटमेंट भी दिया। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान रूस के मिनिस्ट्री ने कहा की ये बहोत ही सरियस मामला है और न सिर्फ हम इसकी जाँच कर रहे है. बल्कि दुबारा ऐसा न हो इसका इंतजाम भी कर रहे है.

मगर इस चोरी की वजह से ही पता चला की इसतरह का भी कोई प्लेन है. जो परमाणु हमले को झेल सकता है है. इंसानो को भी बचा सकता है.

ये भी पढें एक भगौड़ा बाबा जिसने पूरा देश ख़रीद लिया, NITYANAND के देश KAILASA की कहानी

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker