Google Earth के जरिये, कैसे एक William नाम के शख्स की लाश मिलती है.

Google Earth जिसमे आप लगभग दुनिया के सारे नक्शे घर बैठे बैठे देख सकते है, हम आपके एक ऐसी ही एक सच्ची घटना के बारे में बताने जा रहे है.

19s के दौर की बात है, William नाम एक शख्स था, जो अमेरिका में एक Wellington जगह है, ये Florida state के अंदर आने वाला ये गाँव है, तो Wellington में William नाम का एक शख्स रहा करता था.

7 नवंबर 1997 को ये शख्स, करीब शाम साढ़े सात बजे घर से निकलता है, बार में पहुँचता है, ड्रिंक लेता है, हालांकि ये आदि नहीं था शराब का, और पीने का या ऐसा भी नहीं था कि ये बहुत ज़्यादा नशे में होता था,

तो William कभी कभी बार में जाता था, लेकिन ये बहुत ज़्यादा social भी नहीं था, जहाँ ये रहता था, अपने पड़ोसी और इन लोगों से इसकी बातचीत भी कम ही होती थी, लेकिन सीधा साधा इंसान था,

7 नवंबर को ये अपना बार पहुँचता है, करीब बार में बैठे हुए दो घंटे हो गए,

उसके बाद ये अपनी girlfriend को फोन करता है, और कहता है कि थोड़ी देर के बाद मैं घर आ रहा हूँ, मिलने के लिए, ये कह कर वो फोन रख देता है,

girlfriend इधर राह देख रही होती है, घर नहीं पहुँचता रात दस ग्यारह बारह बज जाते हैं, घर नहीं पहुँचता इधर इसके घर वाले जो वहीं रहते हैं, माँ बाप थे वो भी इसका राह देख रहे थे,

लेकिन ये पहुँचता नहीं है, मगर इससे पहले भी ऐसा कई बार हुआ था, जब वो रात को घर नहीं लौटा किसी काम के सिलसिले में तो घर वालों को बहुत परेशानी नहीं हुई,

क्योंकि इस इलाके में law and order को लेके कोई ऐसी समस्या भी नहीं थी, तो उन्हें लगा कि कुछ कहीं अपने दोस्तों के साथ होगा या girlfriend के पास रुक गया होगा,

सात नवंबर की रात बीत जाती है, घर नहीं पहुँचता है, आठ नवंबर की तारीख आती है, आठ नवंबर को भी जब ये दिन में घर नहीं पहुँचता है, तो घर वालों को फिक्र होती है, मोबाइल भी इसका जो है वो काम नहीं कर रहा था,

घर वाले आखिर में 8 नवंबर 1997 को, जाकर Wellington के जो पुलिस स्टेशन है, वहाँ पे मिसिंग की रिपोर्ट लिखा देते है,

रिपोर्ट लिखाने के बाद पुलिस ढूंढती है, पता करती है, उस बार में जाती है, तो पता चलता है ,कि वो बाहर से रात करीब साढ़े ग्यारह बजे निकल गया था, और ठीक ठाक था, होश में था,

बाहर जो पार्किंग, और बाकी के स्टाफ थे, उन्होंने अभी गवाही दी, कि वो अपनी एक गाड़ी Sedan में आया था, और वो अपनी गाड़ी में बैठकर खुद ड्राइव कर रहा था, और उसके बाद निकल गया,

तो सही सलामत कार में जाते हुए भी लोगों ने देखा, लेकिन उसके बाद William का कोई पता नहीं चला, अब वहाँ की जो missing squad है Florida की, और इस Wellington की, उन लोगों ने इसकी तलाश शुरू की,

जहाँ जहाँ उसके जो जानकार हो सकते थे, वहाँ वहाँ गए, उन्होंने उस पूरे रास्ते को खंगाला,

उसकी girlfriend से भी पूछताछ हुई, और उसने कहा कि वो उसके बाद आने वाला था, लेकिन आया नहीं,

कहीं भी William का पता नहीं चला, police अपनी कोशिश में लगी रही वक्त बीतता रहा, महीने से साल साल से साल और साल दो चार दस आठ लेकिन William का कोई सुराग नहीं,

और William की गुमशुदगी एक राज बनकर रह गयी, कोई सुराग नहीं कोई जानकारी नहीं, ना उसकी गाड़ी मिली, उस गाड़ी का नंबर भी हर जगह फ़्लैश किया गया, लेकिन पूरे Wellington में या पूरे Florida में कहीं भी इस नंबर की गाड़ी ट्रेस नहीं की जा सकी,

तो ये बड़ी अजीब चीज़ थी, कि एक शख्स पूरी कार के साथ गायब है, और किसी को उसके बारे में जानकारी नहीं है,

ऐसे करते करते बाईस साल बीत गए William की कोई जानकारी नहीं आयी,

बाईस साल के बाद इसी Wellington में एक शख्स रहता था, और उसने वहाँ काफी वक्त गुजारा, लेकिन फिर उसके बाद वो Wellington से निकलकर, एक दूसरे इलाके में चला गया, और वहाँ रहने लगा फिर वो Florida के अलग अलग हिस्सों में अपना आना जाना उसका रहने लगा,

जिस Wellington में वो पहले रहा करता था, वो जगह उससे छूट गगई थी, अचानक में उस शख्स को जिसने ये अपना जगह छोड़ा था, और दूसरे इलाके में जाके बस गया था,

एक दिन उसे लगा कि, चलो अपने पुराने इलाके, पुराने घर को देखा जाए, ढूंढा जाए, कि अब वहाँ कैसा है, और अब वहाँ पे कौन लोग है, तो जब इस शख्स ने उस घर को छोड़ा था जिसमें रहता था, उसमें एक कोई नए लोग आकर रहने लगे थे,

उन तक ये संपर्क करने की कोशिश कर रहा था, लेकिन कामयाबी नहीं मिली, एक दिन अचानक उसने Google Earth पे कहा कि चलो अपना घर देखते है, और अब उस घर में कौन है कौन लोग हैं, और उसके जरिए उस पड़ोसी से संपर्क भी करते हैं,

वहाँ पे अब नए मकान कैसे बन गए है, कुछ क्योंकि कुछ पुराने मकान बन रहे थे तो ये सारी चीजें उसके मन में थी, उसने कहा आम तौर पे हम सभी का होता है, अगर हम आप लोग अपना अपना घर छोड़कर रोजी रोटी की तलाश में जगह जाते हैं, तो अपना वो जो जहाँ बचपन बीता जहाँ पे रहे, वहाँ का क्या हाल है, कैसा माहौल है, लोग क्या है, पड़ोसी कैसे है, घर अब कैसा है नक्शा बदला की नहीं गालियाँ कैसी है, ये सारी चीज़ें हम सभी के ज़हन में आती है, और हम पुराने दौर में लौट जाते है, तो देश कोई भी हो सोच वही होती है,

तो उस शख्स को भी यही था कि अपना पुराना घर अब कैसा होगा, वो सड़कें, वो मकान, वो आसपास का मंजर, वो कैसा होगा, ये उसके मन में जानने की ख्वाहिश थी,

Google Earth

तो उसने Google Earth के जरिए उसको ढूँढना शुरू किया, 7 अगस्त 2019 को वो Google Earth में अपने उस location तक पहुँच गया, जहाँ पे वो रहता था,

वो सारे घर देखता रहा उस घर के पास एक तालाब है, तो वो तालाब वैसे ही एकदम जो उसकी बचपन की यादें थी उसने देखि, तो उसने हर एक को zoom कर करके देखना शुरू किया,

जब उसने उस तालाब को zoom किया तो अचानक उसने देखा उसके स्क्रीन पे आया कि उस तालाब के अंदर एक कार जैसी कोई चीज नजर आ रही है तो उसको बड़ी हैरत हुई,

फिर उसे लगा कि नहीं कुछ और होगा, कुछ लोहे का plate या कुछ और चीज होंगी, फिर उसने उसको ढंग से ज़ूम किया और लगा रहा जब उसने सारी कोशिश कर ली तो उसे लगा कि इस तालाब के अंदर एक कार है,

हैरान करने वाली बात थी कि जिस घर के पास वो रहता था, जब घर के सामने एक तालाब है, उस तालाब के किनारे ये लोग कई बार बैठे थे, तो उसने कहा इस तालाब के अंदर कार है, इस कार की कहानी क्या है,

और उसे ये भी यकीन नहीं था कि इस कार के बारे में वहाँ के रहने वाले लोगों को ना पता हो,

तो जब उसे यकीन हो गया कि इस तालाब के अंदर पानी के नीचे एक कार है, तो उसने फौरन इसके बाद जो उस घर में इसके छोड़ने के बाद रह रहे थे, उसके पड़ोसी को फोन किया, क्योंकि वो पड़ोसी बचपन से वहीं थे, और वो उनको जानता था,

Google Earth

और कांटेक्ट करने के बाद कहा कि मैंने Google Earth के जरिए अपने इलाके के पूरे नक्शे को देखा ज़ूम कर कर के तो हमारे घर के सामने जो तालाब है, उस तालाब के अंदर मुझे एक कार नजर आ रही है, आप चेक करोगे क्या ये वाकई कार है कि नहीं है,

जब ये पड़ोसी ने सुना, तो बड़ी हैरत हुई, कि नहीं मैं तो इतने सालों से यहाँ हूँ, तालाब के पास से बहुत बार गुज़रा हूँ, लेकिन मैंने तालाब में कभी कोई कार जैसी कोई चीज दिखाई नहीं दी,

तो उसने कहा नहीं मैंने देखा मैं गलत नहीं हूँ, और कुछ images भेजी कुछ पड़ोसी को, फिर पड़ोसी को images देख के हैरानी हुई,

इसके बाद पड़ोसी ने कहाँ कि ठीक है मैं इसको confirm करता हूँ, इसके बाद पड़ोसी ने अपना जो private drone है उस इलाके में आम तौर पे लोग drone रखते है, और उसके लिए बाकायदा कानूनी उनके पास इजाजत भी है,

पडोसी अपना drone लिया और उस तालाब के ऊपर उड़ाना शुरू किया, तालाब के ऊपर उड़ाने के बाद उसने उसको zoom किया एक जगह अचानक उसे कार की एक image दिखाई देती है, और वो चौक गया कि उसके घर के सामने तालाब है, और इस तालाब के अंदर एक कार है, और किसी पड़ोसी को मालूम ही नहीं,

ऐसा नहीं कि तालाब कोई सुनसान जगह पे है, लोग वहाँ आते है जाते है, बैठते है, टहलते है, तो पडोसी चौक गया, जब उसे यकीन हो गया कि इस वाकई तालाब में कार है, तो फिर फौरन Wellington के police का जो chief था उसके पास ये जाता है,

और जाकर कहता है कि, ऐसे ऐसे मेरे एक पुराने पड़ोसी ने मुझे फोन किया और उसने Google Earth से तालाब का एक image देखा, और उसमें एक तालाब के अंदर एक कार मिली, उसके बाद मैंने अपने drone से उसको चेक किया और मुझे उस ड्रोन में ज़ूम करने के बाद तालाब के नीचे तलहटी में एक कार नजर आ रही है,

इस बात को सुन को वो भी चौंक उठता है, इसके बाद पोलिस पूरी टीम लेकर तालाब पे पहुँचती है, इसके बाद तमाम दूसरे कर्मचारियों को बुलाया जाता है, इमेज के हिसाब से जहाँ पे कार देखी गई थी, उसको देखने के बाद, तालाब के अंदर लोगों को भेजा जाता है, और सच में तालाब के नीचे एक कार थी,

फिर कार को ऊपर खींचा जाता है, बाहर निकाला जाता है, जब बाहर आता है और कार के number plate पे नज़र पड़ती है, तो इत्तेफाक से ये कार William की थी, जो 7 नवंबर 1997 को गायब हुआ था, और जिसके बारे में कभी कोई जानकारी नहीं मिली थी,

एक तो कार बाईस साल पानी के अंदर रहने के बाद, पूरी तरह से सख्त हो गयी थी, किसी तरह उसके दरवाजे को काटा गया, जब दरवाजा काट कर अंदर देखा गया तो, कार driver के बाजु वाले seat पे कंकाल पड़ा हुआ था,

लेकिन ये कंकाल क्या William का ही है, ये कैसे पता किया जाए, तो सबसे पहले police ने कंकाल बाहर निकाला, इसके बाद उसकी जाँच की गयी, अब उसको जाँच के लिए DNA जरूरी था, फिर इनके family से contact किया गया, फिर DNA हुआ,

DNA के ज़रिए पता चला कि ये जो कंकाल है ये William का ही है, William जो 7 नवंबर 1997 को अपनी girlfriend को कहता है कि, मैं आ रहा हूँ मिलने, और उसके बाद से कभी नहीं आया,

फिर पुलिस ने अंदाजा लगाया कि सात नवंबर उन्नीस सौ सत्तानवे को बार से निकलने के बाद शायद विलियम ज्यादा नशे में हो और उसने गलत मोड़ ले लिया क्योंकि उस तालाब के पास एक मोड़ भी है, और उस मोड़ पे वो अपना बैलेंस खो गया,

और बैलेंस खोने की वजह से तार जो कार है वो तालाब के अंदर चली गई, और वो उसी गाड़ी के अंदर फस गया एक तो नशे की वजह से और फिर धीरे धीरे डूबने से या दम घुटने से उसकी मौत हो गई, और आहिस्ता आहिस्ता कार उस तालाब के नीचे पहुँच गयी,

लेकिन कमाल की बात ये है, कि कार के तालाब में उतरने की ना तो किसी ने आवाज़ सुनी, ना गिरने की आवाज़ सुनी, ना इस हादसे का कोई चश्मदीद था,

आखिर में ये हुआ कि उस कंकाल को घर वालों को सौंपा गया, और कम से कम ये एक हुआ कि चलो उनकी एक उम्मीद एक इंतजार था वो खत्म हुआ, ज़िंदा ना सही मुर्दा ही सही उनके अपने की वो लाश मिली, जिसका उन्होंने अपने रीति रिवाज के हिसाब से अंतिम संस्कार करके एक तरह से सुकून पाया,

लेकिन शायद दुनिया में इसकी दूसरी कोई मिसाल नहीं मिलती है|

ये भी पढें Noor Inayat Khan इंग्लैंड कि वो जासूस, जो Tipu Sultan के खानदान से थी.

Back to top button