IAS Full Form In Hindi | आईएएस का फुल फॉर्म क्या है?

क्या आप IAS का Full Form क्या है जानते हैं ? यह जानना जरुरी है कि एक IAS अफसर क्या करता है और हमारे लिए IAS का काम क्या है? क्योंकि इस तरह के सवाल हमेशा प्रतियोगिता परीक्षा में किये जाते हैं.

ऐसे वक्त में इसकी जानकारी रखना बहुत ही जरुरी होता है. अगर आपको IAS full form या IAS से संबंधित जानकरी नहीं है तो हम आपको इस पोस्ट के जरिये IAS के बारे में बताने वाले हैं.

क्योंकि आपको आगे चलकर IAS Full Form in Hindi को लेकर आपके मन में कोई भी शंका नहीं रहेगी. IAS के बारे में और भी जांनने के लिए आगे पढते रहिये।

आईएएस का पूरा नाम क्या है

IAS का Full Form, Indian Administration Services है. IAS ऑफिसर को भारत में शक्ति और प्रतिष्ठा का प्रतीक माना जाता है. हम आपको बता दे की किसी भी शहर की पुलिस IAS (DM) अफसर के निचे काम करते हैं.

एक IAS अफसर के पास काफी छुट होती हैं, इस वजह से इस पद की प्रतिष्ठा और जिम्मेदारियाँ और भी बढ़ जाती है.

इस तरह की जिम्मेदारी के लिये एक सही आदमी का चुनाव करना अपने आप में एक बहोत बडी जिम्मेदारी होती है,

इसलिये सिविल सेवा परीक्षा (CSE) को इस तरह से बनाया गया है कि सिर्फ बुद्धिमत्ता वाले छात्र ही इस परीक्षा को पास कर सकें.

सिविल सेवा परीक्षा के लिए 6 लाख लोगों में से केवल 1000 का चयन किया जाता है और सामान्य स्नातकों से लेकर इंजीनियर, वैज्ञानिक, डॉक्टर सभी परीक्षा के लिए बैठते हैं।

इसलिये इस परीक्षा में चुनाव बहुत कठिन होता है, इस वजह से हमारे देश में सिविल सेवा परीक्षा को सबसे कठोर इंतिहान माना जाता है.

ये भी पढें बाइक में पेट्रोल इंजन के बजाय बैटरी बिठाने में कितना खर्च होता है?

IAS क्या होता है?

IAS का इंतिहान भारत का प्रमुख और सबसे कठिन इंतिहान है. हमारे देश के काफी छात्र IAS अफसर बनने सपना देखते हैं. civil service examination (CSE), all India services, UPSC, और विभिन्न central civil service के लिए प्रत्येक वर्ष आयोजित करता है.

IAS को आधिकारिक तौर पर सिविल सेवा परीक्षा (CSE) कहा जाता है, जो केंद्रीय भर्ती सेवा संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा प्रतिवर्ष आयोजित की जाती है।

IAS Full Form in Hindi – आईएएस का फुल फॉर्म हिंदी में

IAS का Full Form हिंदी में “भारतीय प्रशासनिक सेवा“. होता है

IAS परीक्षा में selection कैसे प्राप्त करें?

IAS एक सर्विस नहीं है यह एक बड़ी जिम्मेदारी होती है. IAS अफसर सभी हितधारकों के सभी प्रयासों को एक से अधिक स्तरों पर सही दिशा देता करता है. वह डिस्ट्रिक्ट में एक नेता के जैसे काम करता है.

राज्य सरकार हो या भारत सरकार, चाहे वह शहर हो या जिला, आईएएस अफसर हर विभाग के शीर्ष पर बैठे होते हैं. हर साल, UPSC फरवरी के महीने में civil services examination के लिए अधिसूचना जारी की जाती है, जिसमें 24 केंद्रीय के साथ साथ IAS सिविल सेवा के विज्ञापन शामिल होते हैं.

भारत में,IPS – Indian Police Service, IFoS -Indian Forest Service IAS – Indian Administrative Service, को All India services के रूप में अधिसूचित किया जाता है.

सिविल सेवा परीक्षा (civil services examination) के लिए हर साल लगभग 6 लाख छात्र फॉर्म भरते हैं लेकिन अंत में केवल 1000 छात्र को चुना जाता है.

इसका मतलब है कि उत्तीर्ण होने का चांस बहुत कम है. इसके अलावा, अगर सीटों की संख्या कम हो जाती है, तो पास होने का चांस और कम हो जाएगा.

ये भी पढें PNS Ghazi पाकिस्तानी सबमरीन को कैसे हिंदुस्तान ने समंदर में डुबो दिया।

IAS परीक्षा की Eligibility Criteria

चलिये अब हम IAS EXAM की Eligibility Criteria के उपर नज़र दालते है.

Nationality

भारतीय नागरिकों के साथ, इस परीक्षा में नेपाल, तिब्बत और भूटान के नागरिक, आवेदन कर सकते हैं, लेकिन आईएएस और आईपीएस में भर्ती के लिए, छात्र को भारत का नागरिक होना चाहिए.

IAS Educational Qualification

इस परीक्षा के लिए आवश्यक शैक्षणिक योग्यता किसी भी विषय में graduate है। graduate में न्यूनतम प्रतिशत आवश्यकता नहीं है। केवल आवश्यक शर्त यह है कि graduate की डिग्री सरकारी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से होनी चाहिए।

परीक्षा इस तरह से डिज़ाइन की गई है कि विभिन्न पृष्ठभूमि के लोगों को खेल के मैदान में रखा गया है। उन उम्मीदवारों के लिए कोई फायदा नहीं है जिनके पास डिग्री कोर्स में बेहतर अंक हैं, केवल सिविल सेवा परीक्षा के मामले मायने होते हैं।

छात्र जो अपने graduation कोर्स के last year में हैं, वे इन शर्तों के साथ भी आवेदन कर सकते हैं कि वे सत्यापन के समय अपनी ग्रेजुएशन की मार्क शीट को पुनः जारी करेंगे।

IAS Age Criteria

इस परीक्षा के लिए छात्र की आयु कम से क कम 21 साल होनी चाहिए. अलग-अलग कॅटेगरीज के लिए विभिन्न अधिकतम आयु सीमाएँ निर्धारित की गई हैं.

सामान्य श्रेणी के लिए 32 साल, OBC के लिए 35 साल और SC और ST के लिए 37 साल निर्धारित कि गयी हैं.

विकलांग वर्ग में और भी छूट है। आयु की गिनती अधिसूचना वर्ष के 1 अगस्त से की जाएगी।

जिन छात्रों का चयन अगर IAS या IFS में हुआ है, वह पिछली किसी भी परीक्षा में बैठे हुए हैं और उस सेवा के सदस्य बने हुए हैं, वह फिर से civil services examination में फॉर्म नहीं भर सकते हैं.

IAS officer को कौन कौन से पद मिलते है ?

– सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों के प्रमुख

– चुनाव आयुक्त आदि

– जिला कलेक्टर

– कैबिनेट सचिव

– मुख्य सचिव

– आयुक्त

फॉर्म भरने से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

फॉर्म भरते समय, उम्मीदवार को सभी बुनियादी जानकारी जैसे नाम, पिता का नाम, माता का नाम आदि भरना होता है. सिविल सेवा परीक्षा के लिए सेंटर भी चिह्नित किया जाना है. इस परीक्षा को देश के अलग अलग 72 शहरों के केंद्रों पर एक साथ आयोजित की जाती है.

एक और महत्वपूर्ण बिंदु यह है कि उम्मीदवारों को फॉर्म भरते समय सिविल सेवा मुख्य परीक्षा के लिए एक वैकल्पिक विषय चुनना होगा।

अधिसूचना में, 26 वैकल्पिक विषयों में से एक का चयन और फॉर्म में चिह्नित किया जाएगा।

फॉर्म भरते समय, उम्मीदवारों को अपनी परीक्षा के माध्यम को भी भरना होता है। वे IAS प्रारंभिक परीक्षा में हिंदी के साथ-साथ अंग्रेजी में भी उपस्थित हो सकते हैं।

ये भी पढें Pincode की शुरुवात कब हुई और भारत में कितने Post Office है.

Related Articles

Back to top button