आज तक गोविंदा के साथ काम क्यों नहीं किया? काजोल ने किया खुलासा, कहा की गोविंदा मेरे साथ

बॉलीवुड एक्ट्रेस काजोल इन दिनों नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई अपनी अपकमिंग फिल्म ‘त्रिभंगा’ को लेकर काफी चर्चा में हैं। रेणुका शहाणे द्वारा लिखित और निर्देशित ‘त्रिभंग’ एक ही परिवार की तीन महिलाओं की कहानी है। तीन पीढ़ियों की तिकड़ी नयनतारा अनुराधा और माशा ने अपने जीवन की चुनौतियों और उनके परिवार पर पड़ने वाले प्रभाव का सामना किया।

हालांकि इन तीनों पात्रों को विस्तार से लिखा गया है, लेकिन उन तीनों का दुख हम तक प्रभावी ढंग से नहीं पहुंचता है। नतीजतन, हम इन तीनों के जीवन के बारे में आश्चर्यजनक रूप से तटस्थ तरीके से सुनते रहते हैं। पुरुषों के साथ टकराव की जिंदगी जीने वाली इन महिलाओं के संघर्ष और उनके जीवन के हालात हमारे जेहन से नहीं निकलते।

यह पूछे जाने पर कि उन्होंने गोविंदा के साथ कभी काम क्यों नहीं किया, काजोल ने कहा कि उन्होंने ‘जंगली’ नाम से एक फिल्म शुरू की थी, जिसे राहुल रावल द्वारा निर्देशित किया जाना था। हमने इस फिल्म के लिए एक फोटोशूट भी किया था लेकिन फिल्म शुरू होने से पहले ही रुक गयी।

हमने फोटोशूट के अलावा फिल्म की कोई शूटिंग नहीं की, लेकिन मेरा कहना है कि गोविंदा एक बेहतरीन अभिनेता हैं और साथ ही मैंने हमेशा कहा है कि लोगों को हंसाना बहुत मुश्किल है लेकिन गोविंदा उन चीजों को बखूबी करते हैं। लेकिन फिलहाल हम गोविंदा को किसी भी तरह का काम या फिल्म करते नहीं देखते हैं

इसलिए हो सकता है कि भविष्य में हमारे लिए साथ काम करना बहुत मुश्किल हो लेकिन हो सकता है कि अगर यह संभव हो और यह मेरी नियति है, तो मैं निश्चित रूप से साथ काम करूंगा। गोविंदा। साथ ही, तन्हाजी: द अनसंग वॉरियर में अभिनेत्री काजोल द्वारा निभाई गई सावित्रीबाई की भूमिका को सराहा गया। हालांकि रोल छोटा था लेकिन फिल्म में अहम था।

नब्बे के दशक में कई फिल्में बनाने वाली काजोल से लगातार पूछा जाता है कि वह अब इतनी कम चीजें क्यों कर रही हैं। काजोल ने कहा, ‘फिलहाल मैंने साल में सिर्फ एक फिल्म करने का फैसला किया है और मैं सिर्फ इसलिए कर सकती हूं क्योंकि मुझे अपने परिवार की भी देखभाल करनी है। ‘तानाजी’ अजय की 100 वीं फिल्म है। काजोल कहती हैं, भले ही अजय ने सौ और फिल्में बनाई हों, लेकिन मैं अपने फैसले पर अडि रहूंगी।

Related Articles

Back to top button