जब घमंडी गोविंदा को मिथुन दादा ने सिखाया था ऐसा सबक

मिथुन चक्रवर्ती जब नए नए फिल्म इंडस्ट्री में आए थे तो एक आउट साइडर थे उनका कोई भी माई बाप फिल्म इंडस्ट्री से ताल्लुकात नहीं रखता था अपनी कदगाठी और रंग रूप से परेशान होकर उन्हें संघर्ष भरे दिनों में काफी कुछ झेलना पड़ा आलम तो यूँ था कि उस दौर के तमाम बड़े सुपर स्टारडम ने उनके रंग रूप और कालेपन तक का मजाक उड़ाया लेकिन इन सबसे इतर मिथुन चक्रवर्ती ने कभी भी इस बात की परवाह नहीं की अपने काम पर लगे रहे और तभी तो उन्होंने इतना बड़ा स्टारडम हासिल कर लिया

साल 1776 में आयी मृज्ञा उनकी पहली बंगाली फिल्म थी और इसी साल उनकी दो अनजाने पहली हिंदी फिल्म थी इन दोनों फिल्मों को करने के बाद मिथुन चक्रवर्ती ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और उन्होंने आने वाले समय में बहुत बड़ा मुकाम हासिल कर लिया आलम तो यूँ आया कि जिन बड़े सुपरस्टारों ने उनके साथ काम करने से मना कर दिया था और उनके रंग रूप का मजाक उड़ाया था उन्हीं सुपरस्टारों के साथ उन्हें स्क्रीन शेयर करने का मौका मिला अब मिथुन चक्रवर्ती ने अपने दौर के सभी सुपरस्टारों के साथ काम किया और उन्हीं में से एक है गोविंदा

गोविंदा और मिथुन चक्रवर्ती अपने दौर के बड़े स्टार चुके है लेकिन निर्माताओं की नजर में मिथुन का कद गोविंदा से काफी ऊँचा हुआ करता था इसकी एक वजह थी कि मिथुन काफी डिसिप्लिन से काम करते थे जबकि गोविंदा अपनी मर्जी के मालिक थे अक्सर देर से सेट पर आना और उल्टी सीधी फरमाइश करना उनकी आदतों में शुमार था एक बार इसी बात को लेकर मिथुन और गोविंदा आमने सामने आ गए थे

फिर क्या था मिथुन दादा ने गोविंदा को ऐसा सबक सिखाया कि मिथुन के साथ काम करने से ही कतराने लगे ये बात उन्नीस सौ अठासी की है तो मिथुन और गोविंदा एक फिल्म में काम कर रहे थे दरअसल ये फिल्म गोविंदा और संजय दत्त पर बेस थी और मिथुन इस फिल्म में गेस्ट अपेअरन्स करने वाले थे अब शूटिंग शुरू होते ही गोविंदा अपनी आदत के मुताबिक मनमानी पर उतर आए दरअसल गोविंदा उन दिनों कई फिल्मों में एक साथ काम करते थे और शिफ्टों के हिसाब से डेट दे पाते थे अक्सर उनकी शिफ्ट कैंसल हो जाया करती थी उनकी इस आदत से मिथुन और केवल शर्मा दोनों काफी परेशान रहते थे

एक दिन मिथुन ने केवल शर्मा को बुलाकर कहा कि गोविंदा की इन आदतों से उन्हें काफी परेशानी हो रही है इसलिए वो इस फिल्म में काम कर सकते केवल शर्मा तो वैसे ही परेशान थे उन्होंने इसका ये तोड़ निकाला कि उन्होंने मिथुन के रोल को दोबारा लिखवा कर उन्हें फिल्म का हीरो बना दिया और गोविंदा पूरी फिल्म में एक्स्ट्रा बनकर रह गए और जाहिर सी बात है गोविंदा को इससे काफी गहरा झटका लगा गोविंदा ने जब ये बात देखा तो वो बुरी तरीके से नाराज़ हो गए मिथुन के खिलाफ मीडिया में वो पहुँच गए

गोविंदा से नाराज मिथुन ने उनका दो गाना फिल्म से निकलवा दिया गोविंदा के इशारों का जवाब देते हुए केवल शर्मा ने बयान दिया कि वो गोविंदा को फिल्म में लेना ही नहीं चाहते थे लेकिन खुद गोविंदा ने एक होटल में आकर उनसे मिन्नतें की थी उन्हें इस फिल्में लिया जाए तब जाकर लोगों को मालूम हुआ कि गोविंदा किस तरह कि किस तरह लॉबिंग के जरिए दर्जन भर फिल्में एक साथ करते थे उस दौरान गोविंदा की काफी ज्यादा किरकिरी हुई थी वहीं दूसरी ओर मिथुन दा की लोगों ने खूब वाहवाही की थी

Related Articles

Back to top button