मोबाइल रिचार्ज कंपनी से Paytm तक, अरबपती विजय शेखर शर्मा की कहानी

Paytm ने आज आईपीओ के जरिए शेयर बाजार में अपनी शुरुआत की।Paytm के फाउंडर विजय शेखर शर्मा उस वक्त काफी इमोशनल थे। Paytm भारत की पहली पीढ़ी की स्टार्टअप कंपनी है। 10,000 रुपये के वेतन से शुरू होकर उद्यमी बनने तक का विजय शेखर शर्मा का सफर वाकई काबिले तारीफ है। आने वाली पीढ़ियों के लिए प्रेरणास्त्रोत है। 27 साल के विजय शेखर शर्मा हर महीने 10,000 रुपये कमा रहे थे। उस समय, वेतन शादी के लिए भुगतान करने के लिए पर्याप्त नहीं था।

विजय शेखर शर्मा ने रॉयटर्स को बताया, “2004-05 में, मेरे पिता ने मुझे कंपनी बंद करने और प्रति माह 30,000 रुपये तक का वेतन पाने के लिए कहा था।” आज Paytm भारत में एक लोकप्रिय डिजिटल भुगतान कंपनी है। इसी Paytm की स्थापना शर्मा ने 2010 में की थी। विजय शेखर शर्मा की Paytm कंपनी, जिसके पास इंजीनियरिंग की डिग्री है, शुरुआत में मोबाइल रिचार्ज का काम करती थी।

विजय शेखर शर्मा ने शुरुआती दिनों के अनुभव के बारे में कहा, “उस समय, शादी के लिए जगह आ रही थी। लेकिन जब मैंने 10,000 रुपये का वेतन आंकड़ा सुना, तो उन्होंने मुझसे फिर से संपर्क नहीं किया।” विजय शेखर शर्मा का जन्म एक पिता जो एक शिक्षक थे और एक माँ जो एक गृहिणी थीं। ये मूल रूप से उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं। 2017 में, शर्मा भारत के सबसे कम उम्र के अरबपति थे। मेहनत से खूब पैसा कमाने वाले विजय शेखर शर्मा आज भी सड़क किनारे लगे स्टॉल पर चाय पीना पसंद करते हैं। कभी-कभी वे सुबह की सैर के लिए दूध और रोटी लेने जाते हैं।

“लंबे समय तक, मेरे माता-पिता को पता नहीं था कि उनका बेटा क्या कर रहा है।” टाइम चाइना एंट ग्रुप ने पहली बार 2015 में Paytm में निवेश किया था। “एक बार मेरी माँ को एक हिंदी अखबार पढ़ने के दौरान मेरे भाग्य के बारे में पता चला। उन्होंने मुझसे पहली बार पूछा। क्या आपके पास वास्तव में इतना पैसा है?” ऐसा विजय शेखर ने कहा। फोर्ब्स के मुताबिक शर्मा की कुल संपत्ति 2.4 अरब है।

Paytm की यात्रा – Paytm की शुरुआत एक दशक पहले एक मोबाइल रिचार्ज कंपनी के रूप में हुई थी। निजी टैक्सी सेवा प्रदाता उबर ने Paytm को अपनी डिजिटल भुगतान सुविधा से जोड़ा और कंपनी का तेजी से विकास हुआ। 2016 में, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 के नोटों पर प्रतिबंध लगा दिया था। उस समय Paytm की राह में डिजिटल पेमेंट का प्रचार गिर गया था। Paytm के जरिए डिजिटल पेमेंट के साथ मूवी और प्लेन टिकट की बुकिंग की जा सकती है।

इसके अलावा और भी सुविधाएं हैं। भारत में डिजिटल पेमेंट की शुरुआत Paytm से हुई। लेकिन अब उन्हें Google, Amazon, WtsApp और Walmart से फोन पे की चुनौती का सामना करना पड़ रहा है। विजय शेखर शर्मा शादीशुदा हैं और उनका एक बेटा है। विजय शर्मा को कंपनी की सफलता का पूरा भरोसा है। 2017 में, Paytm ने कनाडा में बिल भुगतान ऐप लॉन्च किया। Paytm को लेकर विजय शर्मा का बड़ा सपना है। वे Paytm को सैन फ्रांसिस्को, न्यूयॉर्क, लंदन, हांगकांग और टोक्यो तक ले जाना चाहते हैं।

Related Articles

Back to top button