जब संजय दत्त ने लाई अमिताभ बच्चन की असलियत बाहर

बॉलीवुड सिनेमा में अमिताभ बच्चन को सदी का महानायक कहा जाता है और ये रुतबा उन्होंने ऐसे ही हासिल नहीं किया है लगभग पचास साल से ज्यादा शानदार फिल्मी सफर के दौरान अमिताभ बच्चन ने बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में अपना बेहतरीन योगदान दिया है और पीढ़ी दर पीढ़ी उन्होंने लोगों का मनोरंजन भी किया है.

साल 1969 में इनकी पहली डेबूत फिल्म सात हिंदुस्तानी आई थी और इस फिल्म को करने के बाद उन्होंने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा हालांकि बुरे दौर में भी अमिताभ बच्चन कभी भी हार नहीं माने और उन्होंने लगातार मेहनत और काबिलियत दम पर लोगों को ये बता दिया कि वही है इंडस्ट्री के सबसे बड़े महानायक है.

मौजूदा दौर में वे अमिताभ बच्चन फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े हुए है और उनकी आने वाली फिल्मों पर सभी की निगाहें गढ़ी ही रहती है आलम तो यूँ है कि इतने उम्रदराज़ होने के बावजूद भी अमिताभ बच्चन की फिल्में बड़े पर्दे पर सुपर हिट हो जाती है. और उनकी एक झलक पाने के लिए फैंस भी काफी ज्यादा बेकरार रहते है फिल्मी सफर के दौरान अमिताभ बच्चन का कई सारे अभिनेताओं के साथ लगाव रहा वही कई सारे अभिनेताओं के साथ उनके मनमुटाव भी देखने को मिले और उन्हीं एक थे संजय दत्त।

जब संजय दत्त ने अमिताभ बच्चन पर हमला बोला था करियर के पिक पर आने के बाद अमिताभ बच्चन अगर किसी भी फिल्म में होते तो उनके साथ काम करने वाले दूसरे अभिनेता खुद को काफी असुरक्षित महसूस करते थे. अमिताभ बच्चन का कद ही इतना बड़ा था कि निर्देशक उनके सामने दूसरे कलाकार को बौना कर देते थे जैसा कि मुकुल आंनद की फिल्म हम में हुआ था इस फिल्म में गोविंदाऔर रजनीकांत जैसे बड़े कलाकार भी अमिताभ बच्चन के सामने एक्स्ट्रा बनकर रह गए थे.

खैर इस सच से वाकिफ होते हुए संजय दत्त ने अमिताभ बच्चन के साथ फिल्म खुदा गवाह में काम करना स्वीकार कर लिया था निर्देशक मुकुल आनंद ने संजय दत्त से कहा था कि अमिताभ बच्चन इस फिल्म में केवल गेस्ट अपैरंस करेंगे और उनका काम केवल सात दिनों का ही होगा। फिल्म पूरी तरीके से उन पर और श्रीदेवी पर बेस्ड होगी इसी झांसे में संजय दत्त ने फिल्म साइन कर ली लेकिन जल्द ही एहसास हुआ कि संजय दत्त ने ना केवल अमिताभ बच्चन की तौहीन कर दी बल्कि फिल्म से ही खुद को अलग कर लिया।

अब संजय दत्त को इस बारे में पता लगा किअमिताभ बच्चन की वजह से उन्हें फिल्म से बाहर का रास्ता दिखा तो उनका गुस्सा सातवें आसपास पर पहुँच गया. आपकी जानकारी के लिए बताना चाहेंगे कि फिल्म खुदा गवाह की कहानी और स्क्रीन पे संजय दत्त को बहुत ज्यादा पसंद आयी थी और इस फिल्म को करने के लिए काफी ज्यादा खुश भी थे और इसलिए उन्होंने अपनी दूसरी फिल्मों को साइड करते हुए करीब सत्तर दिनों का समयमुकुल आनंद को दे दिया था.

लेकिन मुकुल ने इस बीच संजय दत्त से सिर्फ दस दिन का काम करवाया डेट्स बेकार जाते देख एक दिन संजय ने जब मुकुल से इसका कारण पूछा तो उन्होंने बताया कि अभी अमिताभ बच्चन के सिन पर काम चल रहा है उनका शूट पूरा होते ही को बता दिया जाएगा। इस पर संजयने कहा कि फिल्म की शूटिंग तीन महीने से चल रही है फिल्म में अमिताभ बच्चन जी का काम सिर्फ सात दिनों का ही था तो फिर अब तक क्यों अमिताभ बच्चन जी के ही सिन पर शूट किए जा रहे हैं.

उस दौरान दरअसल हुआ यूँ कि पहले इस फिल्म मेंअमिताभ बच्चन जी का छोटा सा रोल था लेकिन निर्माता मनोज देसाई ने मुकुल आनंद पर जोर डालकर पूरी स्क्रिप्ट ही बदलवा दी जिसकी वजह से अमिताभ बच्चन का रोल बदल गया और संजय दत्त का काम दस दिनों में ही पूरा हो गया. जब संजय दत्त को हकीकत का पता चला तो उन्होंने खुद को फिल्म से अलग करते हुए मीडिया में बयान दिया कि अमिताभ बच्चन जी दूसरे कलाकारों से खुद को असुरक्षित महसूस करते हैं उनके दबाव के कारण ही मुकुल आनंद ने ऐसा किया है.

सच जो भी रहा हो लेकिन संजय दत्त के इस बयान के बाद अमिताभ बच्चन की काफी किरकिरी हुई थी लेकिन हमेशा के ही तरह उन्होंने चुप्पी साधे रखी बाद में संजय दत्त के शूट किए गए सिन को फिल्म से हटा दिया गया और श्रीदेवी की सिफारिश पर फिल्म में नागार्जुना को ले लिया गया. लेकिन संजय दत्त ने जिस हिसाब से अमिताभ बच्चन पर अपना गुस्सा जाहिर किया था उसे देखते हुए अमिताभ बच्चन उस दौरान काफी ज्यादा नाराज हो गए थे.

Related Articles

Back to top button