दो जिगरी दोस्त जब एक फील्म के लिए बन गए थे दुश्मन

अनिल कपूर को पहले देव आनंद ने अपनी फिल्म स्वामी दादा में रोल ऑफर किया था जिसको बाद में जैकी श्रॉफ निभाया था 1984 में जैकी श्रॉफ की हीरो और अनिल कपूर की वो सात दिन हिट रही और दोनों ही स्टार बन गए 1984 में डायरेक्टर राज सीपी ने दोनों को फिल्म आनंद बहार में एक साथ कास्ट किया लेकिन दोनों की ईगो के कारण उनकी ये करियर की बिगेस्ट फ्लॉप साबित हुई और दोनों के सर चढ़ा स्टारडम का भूत भी एक साथ उतर गया

दरअसल हुआ यूँ कि अनिल कपूर खुद को जैकी श्रॉफ से सीनियर मानते थे इसलिए जब फिल्म की क्रेडिट लिस्ट में जैकी का नाम अनिल कपूर से पहले डाला गया तो अनिल कपूर नाराज हो गए जैकी श्रॉफ की फिल्म हीरो उस साल हिट साबित हुई थी इसलिए राज सीपी उनकी इस पॉपुलैरिटी को कॅश करने के लिए जैकी का नाम फ्रंट पर रखना चाहते थे लेकिन अनिल कपूर का मानना था कि उनकी फिल्म वो सात दिन भी हिट रही इसलिए उन्हें जैकी से कमतर नहीं माना जा सकता

दोनों के इस ईगो के क्लैश के कारण फिल्म की रिलीज अटक गयी और बाद में इसका खामियाज़ा भी भुगतना पड़ा इस झगड़े को निपटाने के लिए जब राज सीपी ने अपने गुरु सुभाष घई से संपर्क किया तो उन्होंने जैकी श्रॉफ का पक्ष लिया का कहना था कि वो सात दिन की कामयाबी से नसीरुद्दीन भी बराबर के हिस्सेदार है जबकि हीरो जैकी को सोलो फिल्म है इसलिए अनिल कपूर के मुकाबले जैकी बड़े स्टार है लेकिन अनिल कपूर नहीं माने और फिल्म की रिलीज टलती रही

इसी बीच अनिल कपूर की फिल्म लैला फिल्म फ्लॉप साबित हुई और फिर अनिल कपूर की डिमांड गिर गयी अब हुआ यूँ किराज सीपी ने क्रेडिट में जैकी के बाद मून मून सेन का नाम जोड़ दिया और अनिल कपूर तीसरे स्थान पर पहुँच गए जिससे झगड़ा और भी ज्यादा बढ़ गया अब आखिरकार सुभाष घई के बीच बचाव के कारण अनिल कपूर जैकी के बाद अपना नाम रखने के लिए राजी हो गए और फिल्म आठ महीने बाद रिलीज हुई अंदर बाहर बॉक्स ऑफिस पर बिलकुल फ्लॉप साबित हुई जिससे दोनों के करियर को जबरदस्त नुकसान पहुँचा

इस घटना से सबक लेते हुए अनिल कपूर और जैकी श्रॉफ ने आपसी मतभेद भुलाकर नई शुरुआत का फैसला किया आगे चलकर दोनों की जोड़ी कामयाब रही और दोनों ने कई बड़ी फिल्मों में एक साथ काम भी किया जिसमें कर्मा और राम लखन जैसी फिल्में भी शामिल है इन दोनों फिल्मों के जरिए फैंस का भरपूर मनोरंजन हुआ और इन दोनों की जोड़ी ने भी एक बार फिर से साबित कर दिया कि अगर आपसी तालमेल रहेगा तो फिल्म इंडस्ट्री में इन दोनों की जोड़ी को कोई भी हरा नहीं सकता

हालांकि कर्मा और राम लखन जैसी फिल्मों को करने के बाद इन दोनों की जोड़ी को लोगों ने बहुत ज्यादा सराहा और दोनों सुपरस्टार की जोड़ी बड़े पर्दे पर हिट भी साबित हुई आने वाले समय में जहाँ जैकी श्रॉफ धीरे धीरे करियर के पिक पर आ गए वहीं दूसरी ओर अनिल कपूर ने भी खूब वाहवाही लूटी

और मौजूदा दौर की तरफ नज़र डाले तो जैकी श्रॉफ आज भी बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े हुए है वही दूसरी ओर अनिल कपूर का भी पूरे इंडस्ट्री में स्टारडम देखने को मिलता ही रहता है जैकी श्रॉफ और अनिल कपूर आज भले ही एक साथ नहीं करते हो लेकिन बावजूद इसके इन दोनों की जोड़ी बड़े पर्दे पर हिट ही रही है

Related Articles

Back to top button